Bhagwat Geeta Quiz – 3

0%

You will get 15 minutes to solve 20 questions.


Bhagwat Geeta Quiz - 3

The aim of Vedamrita is to make the students of Yoga subject perfect for the preparation of NET-JRF and other competitive examinations ....

1 / 20

गीता के अठारवें अध्याय में मोक्ष के लिए किन कर्मों को त्यागने के लिए कहा गया है?

2 / 20

गीता के अठारवें अध्याय में कितने प्रकार के त्याग बताए गए हैं?

3 / 20

भगवत गीता को भारतीय योग साहित्य की क्या कहा जाता है?

4 / 20

मोक्षोपदेश योग गीता में कौनसा अध्याय के रूप में बताया गया है?

5 / 20

कुछ विद्वानों के अनुसार कौन से ग्रंथ को उपनिषदों का सार कहा गया है?

6 / 20

गीता के अठारवें अध्याय में मोक्ष के लिए किन कर्मों को त्यागने के लिए कहा गया है?

7 / 20

गीता के सत्रहवें अध्याय के अनुसार आयु, बुद्धि ,बल ,आरोग्य ,सुख और प्रीति को बढ़ाने वाला रस युक्त स्थिर रहने वाला भोजन कहलाता है?

8 / 20

गीता के अठारवें अध्याय के अनुसार जो कर्म कर्तव्य से विमुख होकर त्याग किए जाते हैं उन्हें किस प्रकार का त्याग कहा जाता है?

9 / 20

मोक्षोपदेश योग गीता में कौनसा अध्याय के रूप में बताया गया है?

10 / 20

गीता के सत्रहवें अध्याय के अनुसार जो भोजन अधपका, रसरहित ,दुर्गंधयुक्त, बासी और अपवित्र है वह भोजन कहलाता है?

11 / 20

गीता के अठारवें अध्याय में कितने प्रकार के सुखों का वर्णन किया गया है?

12 / 20

गीता के अठारवें अध्याय के अनुसार आरंभ में अमृत तुल्य उसका परिणाम विष समान यह किस प्रकार का सुख बताया गया है?

13 / 20

गीता के सत्रहवें अध्याय के अनुसार जो भोजन अधपका, रसरहित ,दुर्गंधयुक्त, बासी और अपवित्र है वह भोजन कहलाता है?

14 / 20

योग विषय पर आधारित एक संपूर्ण प्रथम योग ग्रंथ किसे कहा जाता है?

15 / 20

भगवत गीता किसके बीच का संवाद है?

16 / 20

गीता के सत्रहवें अध्याय के अनुसार रजोगुणी व्यक्ति किसकी पूजा करते हैं?

17 / 20

गीता के अठारवें अध्याय के अनुसार जो प्रारंभ से लेकर अंत तक मोहकारक है जो निद्रा ,आलस्य तथा मोह से उत्पन्न है वह सुख कहलाता है?

18 / 20

गीता के सत्रहवें अध्याय के अनुसार कड़वे ,खट्टे ,लवण युक्त ,बहुत गर्म ,तीखे, रूखे ,दाह कारक और दुख, चिंता तथा रोगों को उत्पन्न करने वाला आहार क्या कहलाता है?

19 / 20

गीता के अठारवें अध्याय में कितने प्रकार के त्याग बताए गए हैं?

20 / 20

गीता के अठारवें अध्याय के अनुसार आरंभ में विष समान लेकिन उसका परिणाम अमृत तुल्य होता है यह किस प्रकार का सुख बताया गया है?

Your score is

The average score is 45%

0%

2 Comments

  1. Sujeet yadav on September 25, 2023 at 10:59 am

    Very nice quizzes

  2. Sujeet yadav on September 25, 2023 at 11:00 am

    Very nice quizzes of my great book Bhagvat Geeta.

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.