UPNISHADS – 23

0%

You will get 15 minutes to solve 20 questions.


UPNISHADS - 23

The aim of Vedamrita is to make the students of Yoga subject perfect for the preparation of NET-JRF and other competitive examinations ....

1 / 20

बृहदारण्यक उपनिषद के चौथे ब्राह्मण में किसका स्वरूप बताया गया है?

2 / 20

योगकुण्डल्यु प्रथम अध्याय में चित्त के मूल हेतु क्या बताए गए हैं?

3 / 20

बृहदारण्यक उपनिषद के छठे ब्राह्मण में किस के स्वरूप का वर्णन किया गया है?

4 / 20

देहस्थ अग्नि को कौन सा प्राणायाम प्रदीप्त करता है?

5 / 20

सुख पूर्वक स्थिर बैठने को क्या कहा गया है?

6 / 20

प्राणों पर विजय प्राप्ति के लिए कितने उपाय बताए गए हैं?

7 / 20

कण्ठ में उत्पन्न होने वाले दाह को शांत करने वाला शरीर की अग्नि को प्रदीप्त करने वाला कौन सा प्राणायाम बताया गया है?

8 / 20

वात रोग एवं क्रिमी जन्य रोगों को नष्ट किस प्राणायाम के द्वारा बताया गया हैं?

9 / 20

गुल्म , प्लीहा आदि उदर रोगों से क्षय आदि विकार किस प्रणायाम से ठीक हो जाते हैं?

10 / 20

दूसरे अध्याय के प्रथम ब्राह्मण में किसका वर्णन किया गया है?

11 / 20

योगकुण्डल्युपनिषद के अनुसार प्राणायाम कितने बताए गए हैं?

12 / 20

बृहदारण्यक उपनिषद के पांचवें ब्राह्मण में किसकी उत्पत्ति का वर्णन किया गया है?

13 / 20

योगकुण्डल्युपनिषद में कितने आसनों का वर्णन किया गया है?

14 / 20

योगकुण्डल्युपनिषद कौन से वेद से लिया गया है?

15 / 20

सिर में उत्पन्न ताप को हरने वाला, गले के रोग कफ से उत्पन्न रोग ,नाड़ीगत रोगों को कौन सा प्रणायाम दूर करता है?

16 / 20

प्रथम अध्याय में प्राणायाम सिद्धि के कितने उपाय बताए गए हैं?

17 / 20

योगकुण्डल्युपनिषद के सर्वप्रथम अध्याय में किसका वर्णन किया गया है?

18 / 20

योगकुण्डल्युपनिषद में कुल कितने अध्याय बताए गए हैं?

19 / 20

सूर्यभेदी ,उज्जाई, शीतली, भस्त्रिका इन चार भेदो के साथ जो कुम्भक किया जाए उसे क्या कहा जाता है?

20 / 20

बृहदारण्यक उपनिषद के दूसरे अध्याय में कितने ब्राह्मणों का वर्णन किया गया है?

Your score is

The average score is 38%

0%

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.